अति सूधो सनेह को मारग है Objective Class 10 || Ati Sudho Sneh Ko Marag Hai Objective || Bihar Board Class 10th Hindi Objective Question

 1. ‘मो अँसुवनिहि लै बरसो’ कौन कहते हैं ?
(A) रसखान
(B) गुरुनानक
(C) घनानंद
(D) दिनकर

]


2. घनानंद ने किसे मार्ग को अत्यंत सीधा व सरल कहा है ?
(A) क्रोध
(B) प्रेममार्ग
(C) घृणा
(D) कपट


3. घनानंद कवि हैं
(A) रीतिमुक्त
(B) रीतिबद्ध
(C) रीतिसिद्ध
(D) छायावादी


4. अति सूधों सनेह को मारग है, जहाँ नेकु सयानप बाँक नहीं।’ यह पंक्ति किस कवि की है?
(A) गुरुनानक
(B) प्रेमघन
(C) रसखान
(D) घनानंद


5. कवि प्रेममार्ग को ‘अति सूधो’ कहता है क्योंकि-
(A) यहाँ तनिक भी चतुराई काम नहीं करती।
(B) यहाँ सच्चाई भी अपना घमंड त्याग कर चलती है।
(C) यहाँ कपटी लोग चलने से झिझकते हैं।
(D) उपर्युक्त सभी।


6. घनानंद की भाषा क्या है ?
(A) अवधी
(B) ब्रजभाषा
(C) प्राकृत
(D) पाली


7. कवि ने ‘परजन्य किसे कहा है?
(A) कृष्ण
(B) सुजान
(C) बादल
(D) हवा


 8. “घनआनँद जीवनदायक हौ कछू मेरियौ पीर हिएँ परसौ” में किस कवि का नाम आया है?
(A) प्रेमघन
(B) घनानंद
(C) धन याम
(D) बिहारीलाल


9. ‘सुजानसागर’ के रचनाकार हैं
(A) रसखान
(B) गुरुनानक
(C) प्रेमघन
(D) घनानंद


10. ‘सुजानसागर’ किसकी कृति है ?
(A) मतिराम
(B) घनानन्द
(C) देव
(D) केशवदास


11. ‘लाक्षणिक मूर्तिमत्ता और प्रयोग वैचित्र्य’ के कवि कौन हैं?
(A) घनानन्द
(B) सूरदास
(C) बिहारी
(D) तुलसीदास


12. रीतिमुक्त काव्यधारा के सिरमौर कवि किन्हें माना जाता है ?
(A) प्रेमधन
(B) घनानंद
(C) रसखान
(D) कबीर


13. परहित के लिए देह धारण कौन करता है?
(A) राजा
(B) साधु
(C) बादल
(D) पशु


14. ‘घनानंद’ ने विरक्त होने पर स्थायी रूप से कहाँ निवास किया ?
10 (A) हरिद्वार
(B) अयोध्या
(C) काशी
(D) वृन्दावन


15. कवि घनानंद ने किस मार्ग को सबसे सरल कहा है?
(A) प्रेममार्ग को
(B) साधना के मार्ग को
(C) कर्मपंथ को
(D) ज्ञानमार्ग को


16. ‘मो अँसुवानिहिं लै बरसौ’ में किसकी बात कही गई है ?
(A) प्रेम वेदना की
(B) विरह वेदना की
(C) (A) और (B) दोनों की
(D) इनमें कोई नहीं


17. ‘घनानंद’ किस काल के कवि थे?
(A) भक्ति काल के
(B) वीरगाथा काल के
(C) छायावाद युग के
(D) रीति युग के


18. घनानंद के अनुसार, ‘प्रेम का मार्ग’ कैसा होता है ?
(A) सीधा और सरल
(B) कठिन और जटिल
(C) सीधा और सुखदायी
(D) कठिन और दुखदायी


19. ‘नेकु’ का आधुनिक मानक रूप है
(A) अच्छा
(B) तनिक भी
(C) कुछ नहीं
(D) सबसे सुन्दर


20. घनानंद ने सुजान कहकर किसे संबोधित किया है ?
(A) प्रीतम को
(B) सामान्य जन को
(C) साधुओं को
(D) विद्वानों को


 21. ‘घनानंद’ ने जीवनदायक किसे कहा है ?
(A) सुजान को
(B) ईश्वर को
(C) बादल को
(D) इनमें से कोई नहीं


22. घनानंद की कीर्ति का आधार है
(A) सुजानहित
(B) लाक्षणिक मूर्तिमत्ता और प्रयोग वैचित्र्य
(C) (A) और (B) दोनों
(D) इनमें कोई नहीं


23. घनानंद किस बादशाह के यहाँ मीरमुंशी का काम करते थे?
(A) अकबर के
(B) औरंगजेब के
(C) बाबर के
(D) मोहम्मदशाह रंगीले के


24. कौन प्रेम कर सकते हैं?
(A) छली और कपटी ही
(B) निश्छल और निष्कपट ही
(C) (A) और (B) दोनों ही
(D) इनमें से कोई नहीं


25. ‘प्रेम की पीर’ का कवि किन्हें कहा गया है?
(A) रसखान को
(B) प्रेमघन को
(C) मंझन को
(D) घनानंद को


26. कवि अपने आसुओं को कहाँ पहुँचाना चाहता है ?
(A) सुजान के आँगन में
(B) सुजान के दिल में
(C) सुजान के हथेली पर
(D) इनमें सभी


27. रीतिमुक्त काव्यधारा के सिरमौर कवि किसे कहा जाता है ?
(A) बिहारी को
(B) घनानन्द को
(C) पद्माकर को
(D) मतिराम को


28. घनानंद किस नर्तकी को प्यार करते थे?
(A) रश्मि बाई को
(B) रसूलन बाई को
(C) सृजन को
(D) सुजान को


29. ‘विरहलीला’ रचित है
(A) रसखान द्वारा
(B) घनानंद द्वारा
(C) सूरदास द्वारा
(D) मीराबाई द्वारा


30. घनानंद किससे प्रेम करते थे?
(A) कलावती नामक नर्तकी से
(B) रेशमा नामक नर्तकी से
(C) सुजान नामक नर्तकी से
(D) सलमा नामक नर्तकी से


31. घनानंद किसके द्वारा मारे गये?
(A) शिष्य के
(B) राजा के
(C) दूसरे कवि के
(D) नादिरशाह के सैनिक के


32. घनानंद का दूसरा पद किसे संबोधित है ?
(A) सुजान को
(B) भगवान को
(C) बादल को
(D) इनमें से कोई नहीं


33. ‘घनानंद’ अपने आँसूओं को कहाँ पहुँचाना चाहते हैं ?
(A) समाज में
(B) बादल के पास
(C) वृन्दावन में
(D) सुजान के आँगन में


34. कवि ने प्रेम मार्ग को बताया है
(A) सरल एवं निश्छल
(B) जटिल
(C) नीरस
(D) अहंकारयुक्त


35. घनानंद की महत्त्वपूर्ण रचना है
(A) सुधा
(B) वैराग्य
(C) सुजानसागर
(D) इनमें सभी


36. ‘घनानन्द’ की मृत्यु कब हुई ?
(A) 1737 ई० में
(B) 1739 ई. में
(C) 1741 ई. में
(D) 1743 ई. में


 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page