class 10th hindi ka subjective question 2023

हिन्दी का सब्जेक्टिव का नोट्स डाउनलोड करें बिल्कुल फ्री में यहाँ से : class 10th hindi ka subjective question 2023

हिन्दी का सब्जेक्टिव का नोट्स डाउनलोड करें बिल्कुल फ्री में यहाँ से : class 10th hindi ka subjective question 2023

हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका एक और नए पोस्ट में आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि आप लोग हिंदी का 50 महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन को कैसे डाउनलोड कर सकेंगे और यह 50 सब्जेक्ट प्रश्न आपके फाइनल बोर्ड परीक्षा 2023 के लिए काफी महत्वपूर्ण है और 2023 परीक्षा में 50 सब्जेक्ट प्रश्न से बहुत सारे प्रश्न लड़ने वाले हैं तो इस पोस्ट को आप को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ना है

कैसे करें subjective प्रश्नों की तैयारी 

सब्जेक्टिव क्वेश्चन की तैयारी करने के लिए सबसे पहले आपको सब्जेक्टिव क्वेश्चन को बहुत ही अच्छी तरीके से आप को समझना पड़ेगा और जब आप लोग समझ जाइएगा तो उसे आप लोग बहुत ही आसानी से याद कर सकते हैं और हमेशा के लिए याद रखने के लिए आपको उसका समय समय से रिवीजन करना पड़ेगा तो आप लोग समय समय पर रिवीजन करते रहे

कक्षा-10 का तैयारी कैसे करें 

कक्षा दसवीं की तैयारी करने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल Ask class से जुड़कर काफी तैयारी कर सकते हैं तो आप हमारे युटुब चैनल को जरूर सब्सक्राइब कर दीजिएगा नीचे लिंक है और वहां पर लाइव क्लास कराया जाता है तो आप लोग क्लास में जुड़ कर अपनी तैयारी काफी अच्छी कर सकते हैं तो आप लोग अपनी तैयारी जरूर करें 

class 10th hindi ka subjective question 2023

हिन्दी का SUBJECTIVE QUESTION का नोट्स डाउनलोड LINK

SUBJECT डाउनलोड लिंक 👇👇👇
HINDI 50 SUBJECTIVE LINK
हमारा YOUTUBE चैनल  SUBSCRIBE

 

यहाँ से आपलोग डोनलोड कर सकते है 👆👆👆

 

कुछ महत्वपूर्ण SUBJECTIVE प्रश्न 👇👇👇

1. लेखक किस विंडवना कि बात करते है ? वींड्वना का स्वरुप क्या है ? 

उतर:- लेखक भीमराव अम्बेडकर जी वींड्वना कि बात करते हुए कहते है कि इस युग मे जातिवाद के पोषको कि कमी नहींहै जिसका स्वरुप है कि जतिप्रथा श्रम विभाजन के साथ- साथ श्रमिक विभाजन का भी रुप ले रखा है , जो अस्वभविक है।

2. जातिवाद के पोषक उसके पक्ष मे क्या तर्क देते है ? 

उतर:-  जातिवाद के पोषको का तर्क है कि आधुनिक सभ्य समाज कार्य कुशलता के लिए श्रम विभाजन आवश्यक मानता है और जाति प्रथा श्रम विभाजन का ही रूप है इसलिए इसमें कोई बुराई नहीं है।

3. जाति प्रथा भारत में बेरोजगारी का एक प्रमुख और प्रत्यक्ष कारण कैसे बनी हुई है ?

उतर:- जाति प्रथा भारत में बेरोजगारी का एक प्रमुख और प्रत्यक्ष कारण है क्योंकि भारतीय समाज में श्रम विभाजन का आधार जाति है चाहे श्रमिक कार्य कुशल हो या नहीं उस कार्य में रुचि रखता हो या नहीं इस प्रकार हम कह सकते हैं कि जब श्रमिकों कार्य करने में न दिल लगे ना दिमाग तो कोई कार्य कुशलता पूर्वक कैसे प्राप्त कर सकता है यही कारण है कि भारत में जतिप्रथा बेरोजगारी का प्रत्यक्ष और प्रमुख कारण बना हुआ है ।

4. खोखा किन मामलों में अपवाद था ?

उत्तर सेन साहब एक अमीर आदमी थे । खोखा उनके बुढापे की आँखों का तारा था। इसीलिए मिसेज सेन ने उसे काफी छूट दे रखी थी । खोखा जीवन के नियम का जैसे अपवाद था और इसलिए यह भी स्वाभाविक था कि वह घर के नियमों का भी अपवाद था।

5. धर्मों की दृष्टि से भारत का क्या महत्त्व है ?

उत्तर ⇒ भारत प्राचीन काल से ही धार्मिक विकास का केन्द्र रहा है। यहाँ धर्म के वास्तविक उद्भव, उसके प्राकृतिक विकास का प्रत्यक्ष परिचय मिलता है। भारत वैदिक धर्म की भूमि है, बौद्ध धर्म की यह जन्मभूमि है, पारसियों के जरथुस्त्र धर्म की यह शरण-स्थली है। इस तरह से भारत धार्मिक क्षेत्र में विश्व को आलोकित करनेवाला एक महत्त्वपूर्ण देश है।

6. मनुष्य बार-बार नाखूनों को क्यों काटता है ?

उत्तर-मनुष्य निरंतर सभ्य होने के लिए प्रयासरत रहा है। प्रारंभिक काल में मानव एवं पशु एकसमान थे। नाखून अस्त्र थे। लेकिन जैसे-जैसे मानवीय विकास की धारा अग्रसर होती गई मनुष्य पशु से भिन्न होता गया। वह पुरानी जीवन-शैली को परिवर्तित करता गया । जो नाखून अस्त्र थे उसे अब सौंदर्य का रूप देने लगा। । इसमें नयापन लाने, इसे सँवारने एवं पशु से भिन्न दिखने हेतु नाखूनों को मनुष्य काट देता है।

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page