Prakash Ka Pravartan Tatha Apvartan Subjective Question Class 10th || Prashna,Prakash Ka Pravartan Tatha Apvartan Long Question

1.प्रदीप्त और अप्रदिप्त वस्तुएँ किसे कहते है ?

उत्तर— प्रदीप्त वस्तुएँ– जो वस्तुएँ प्रकाश उत्सर्जित करता है उसे प्रदीप्त वस्तुएँ कहते है,  जैसे– सूर्य, मोमबत्ती, और जलाता हुआ बिजली का बल्ब आदि

अप्रदिप्त वस्तुएँ— जो वस्तुएँ प्रकाश उत्सर्जित नही करता है उसे अप्रदिप्त वस्तुएँ कहते है , जैसे– टेबल, कुर्सी, पुस्तक और पौधे आदि


2. किरणपुंज किसे कहते है, और ये कितने प्रकार के होते है ?

उत्तर– किरणपुंज— प्रकाश के किरणों के समूह को किरणपुंज कहते है I

किरणपुंज तीन प्रकार के होते है I

1.अपसारी किरणपुंज

2.समान्तर किरंपुज

3.अभिसारी किरणपुंज

1.अपसारी किरणपुंज—- जब प्रकश की किरणे एक बिंदु से निकलकर चारो तरफ फैलाती है तो उसे अपसारी किरणपुंज कहते है I

2.समान्तर किरणपुंज— जब प्रकाश की किरणे एक दुसरे के समानान्तर होते है तो उसे समान्तर किरणपुंज कहते है

3.अभिसारी किरणपुंज— जब प्रकश की किरणे भिन्न-भिन्न दिशाओं से आकर एक बिंदु पर मिलाता है तो उसे अभिसारी किरणपुंज कहते है I


3.पारदर्शी ,अपारदर्शी और पारभासी पदार्थ किसे कहते है ?

उत्तर– पारदर्शी पदार्थ– वैसा पदार्थ जिससे आरपार दिखाई दे तो उसे पारदर्शी पदार्थ कहते है जैसे– काँच, पानी, और हवा आदि

अपारदर्शी पदार्थ— वैसा पदार्थ जिससे आरपार दिखाई नही देता है उसे अपारदर्शी पदार्थ कहते है जैसे– लोहा, पत्थर, लकड़ी आदि I

पारभासी पदार्थ— वैसे पदार्थ जिससे आरपार देखने पर धुंधला दिखाई देता है उसे पारभासी पदार्थ कहते है I जैसे– तेल लगा हुआ कगाज, घिसा हुआ सीसा, दूध आदि I


4. प्रकश का परावर्तन किसे कहते है और इसके नियम को लिखें ?

उत्तर– प्रकश का परावर्तन–जब प्रकश की किरणे किसी दर्पण या चमकीली सतह से टकराकर पुनः लौटने की प्रक्रिया को प्रकाश का परावर्तन कहते है I

प्रकाश के परावर्तन दो नियम होता है ?

1.आपतन कोण, परावर्तन कोण के बराबर होता है

2.आपतित किरण,परावर्तित किरण तथा आपतन बिंदु पर डाला गया लम्ब तीनों एक ही समतल में होता है


5. प्रतिबिम्ब क्या है और ये कितने प्रकार के होते है ?

उत्तर– प्रतिबिम्ब– किसी बिंदु स्त्रोत से चलने वाली प्रकश की किरणे दर्पण से परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है या मिलती हुई मालूम पड़ती है उसे प्रतिबिम्ब कहते है

प्रतिबिम्ब दो प्रकार के होते है I

1.वास्तविक प्रतिबिम्ब

2.काल्पनिक या आभासी प्रतिबिम्ब

1.वास्तविक प्रतिबिम्ब–किसी बिंदु स्त्रोत से चलने वाली प्रकश की किरणे दर्पण से परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है उसे वास्तविक प्रतिबिम्ब कहते है

⇒वास्तविक प्रतिबिम्ब को पर्दे पर उतार सकते है

⇒वास्तविक प्रतिबिम्ब उल्टा होता है

2.काल्पनिक प्रतिबिम्ब– किसी बिंदु स्त्रोत से चलने वाली प्रकश की किरणे दर्पण से परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती हुई मालूम पड़ती है उसे काल्पनिक या आभासी प्रतिबिम्ब कहते है

⇒काल्पनिक प्रतिबिम्ब को पर्दे पर नही उतरा सकता है

⇒काल्पनिक प्रतिबिम्ब सीधा होता है


6. गोलीय दर्पण किसे कहते है ? और ये कितने प्रकार के होते है

उत्तर– गोलीय दर्पण उस दर्पण को कहते है,जिसका परावर्तक सतह किसी खोखले गोले जैसा गोलिय हो तो उसे गोलीय दर्पण कहते है I

⇒गोलीय दर्पण दो प्रकार के होते है

1.उत्तल दर्पण

2.अवतल दर्पण

1. उत्तल दर्पण– जिस दर्पण का परावर्तक सतह आगे के तरफ उभरा हुआ हो तो उसे उत्तल दर्पण कहते है

⇒उत्तल दर्पण मे वस्तु का प्रतिबिंब हमेसा छोटा और सीधा बनता है

2.अवतल दर्पण– जिस दर्पण का परावर्तक सतह अंदर के तरफ धसा हो तो उसे अवतल दर्पण कहते है

⇒अवतल दर्पण मे वस्तु का प्रतिबिंब बड़ा और छोटा दोनों बनता है


7. उत्तल दर्पण अवतल दर्पण और समतल दर्पण के दो दो उपयोगों को लिखें ?

उत्तर– उत्तल दर्पण का दो उपयोग निम्नलिखित है

1.उत्तल दर्पण का उपयोग मोटरगाड़ी के साईड मिरर के रूप मे किया जाता है

2.उत्तल दर्पण का उपयोग किसी भी वस्तु का छोटा प्रतिबिंब बनाने मे किया जाता है

⇒अवतल दर्पण का दो उपयोग निम्नलिखित है

1.अवतल दर्पण का उपयोग दाढ़ी बनाने मे किया जाता है है

2.अवतल दर्पण का उपयोग चिकित्सा क्षेत्रों मे किया जाता है

समतल दर्पण का दो उपयोग निम्नलिखित है

1.समतल दर्पण का उपयोग चेहरा देखने मे किया जाता है

2.इसका उपयोग ड्रेसिंग टेबलों मे किया जाता है


8. समतल दर्पण द्वारा बने प्रतिबिंब की विशेषता को लिखें ?

उत्तर —  समतल दर्पण द्वारा बने प्रतिबिंब की विशेषता निम्नलिखित है

1.समतल दर्पण मे वस्तु का प्रतिबिंब हमेशा दर्पण के पीछे बनता है

2.प्रतिबिंब का आकार वस्तु के आकार के बराबर होता है

3.प्रतिबिंब हमेसा सीधा बनता है

4.प्रतिबिंब आभासी होता है इसे हम पर्दे पर नहीं उतार सकते है

5.प्रतिबिंब पार्श्विक रूप से उलटा होता है


 9.  आवर्धन किसे कहते है ?

उत्तर– प्रतिबिंब की उचाई तथा वस्तु की उचाई के अनुपात को आवर्धन कहते है आवर्धन को m  से सूचित किया जाता है

⇒आवर्धन का कोई भी मात्रक नहीं होता है ये मात्रक विहीन होता है

⇒आवर्धन = (प्रतिबिंब की उचाई )/(वस्तु की उचाई )

M = (v )/(u )


10. प्रकाश क्या है ? इसकी विशेषता को लिखिए

उत्तर—प्रकाश एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा किसी वस्तु को देखने की अनुभूति होती है उसे प्रकश कहते है

⇒प्रकश की विशेषता–

1.प्रकश एक उर्जा का रूप है

2.प्रकाश एक चुम्बकीय तरंग भी है

3.प्रकश की चाल सबसे अधिक निर्वात में होता है

4.प्रकश सदैव सीधी रेखा में गमन करती है

5.प्रकश एक अनुप्रस्थ तरंग है


11.प्रकश का प्रकीर्णन से आप क्या समझते है ?

उत्तर– प्रकश जब किसी माध्यम से गुजरता है तो उसमे उपस्थित धुल कण तथा अन्य पदार्थों से टकराकर प्रकश सभी दिशाओं में फ़ैल जाता है तो इस घटना को प्रकाश का प्रकीर्णन कहते है I सूर्य के प्रकाश के प्रकीर्णन के ही कारण आकाश का रंग नीला दिखाई देता है इसमे नील रंग का प्रकीर्णन सबसे अधिक होता है


12.पानी के अपवर्तनांक से आप क्या समझते है ?

उत्तर— निर्वात में प्रकाश की चल तथा पानी में प्रकाश के चल के अनुपात को पानी का अपवर्तनांक कहते है

पानी का अपवर्तनांक = (निर्वात में प्रकाश की चाल )/(पानी में प्रकश की चाल)

= 300000/225000

= 1.33


13. रेलवे का सिगनल लाल रंग का होता है क्यों ?

उत्तर— लाल रंग का तरंग दैर्ध्य अधिक होता है जिसके कारण लाल रंग का प्रकीर्णन बहुत ही कम होता है और यह रंग कम फैलता है जब यह रंग कम फैलता है तो कुहे या धुएँ में स्पस्ट दिखाई देता है इसीलिए रेलवे का सिगनल लाल रंग का होता है


14. प्रकश का वर्ण विक्षेपण क्या है ? स्पेट्रम कैसे बनता है ?

उत्तर– जब सूर्य की स्वेत प्रकश किसी प्रिज्म से होकर गुजरता है तो वह सात रंगों में विभक्त हो जाता है I इसी घटना को प्रकाश का वर्ण विक्षेपण कहते है I अगर इन रंगों को किसी पर्दे पर उतारा जाए तो उसे वर्णपट या स्पेक्ट्रम कहते है


15.पानी में डूबी हुई पेंसिल मुड़ी हुई प्रतीत होती है क्यों

उत्तर– जब पानी में किसी पेंसिल को डुबाया जाता है तो यह प्रकाश के अपवर्तन के कारण पेंसिल मुड़ी हुई प्रतीत होती है I क्योकि जब प्रकश की किरण बिरल माध्यम से सघन माध्यम में जाता है तो वह प्रकश अभिलम्ब की ओर मुड़ जाती है यही कारण है की पानी में डूबी हुई पेंसिल मुड़ी हुई प्रतीत होती है


16. उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस क्यों कहा जाता है ?

उत्तर– जब प्रकश की किरणे किसी उत्तल लेंस से अपवर्तित होता है तो वह प्रकश की किरणे अपवर्तन के बाद एक बिंदु पर मिल जाती है इसी लिए उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस कहते है


17. साफ आकाश नीला क्यों प्रतीत होता है ?

उत्तर– जब सूर्य का प्रकाश वायुमंडल से होकर गुजरता है तो वायुमंडल में उपस्थित छोटे छोटे धुल कण नीले रंग का प्रकीर्णन सबसे अधिक करता है जिसके कारण नीला रंग चरो ओर फ़ैल जाता है यही कारण है की आकाश का रंग नीला प्रतीत होता है I


18. प्रकाश के अपवर्तन के नियम को लिखे ?

उत्तर— प्रकश के अपवर्तन के दो नियम होते है

1.आपतित किरण, अपवर्तित किरण तथा आपतन बिदु पर डाला गया लम्ब तीनो एक तल में होते है

2.किन्ही दो माध्यमों में प्रकश की किसी विशेष रंग के लिए आपतन कोण की ज्या और अपवर्तन कोण की ज्या का अनुपात एक नियतांक होता है जिसे स्नेल के नियम भी कहते है अर्थात्  (sin i)/(sin r ) = μ


 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page