Vidhut Dhara Subjective Question Class 10 || Electric Current Subjective Question Class 10th || Ask Alass

1. विधुत धारा किसे कहते है ?

उत्तर– आवेश के प्रवाह के दर को विधुत धारा कहते है विधुत धारा का SI मात्रक ऐम्पियर होता है एम्पियर को A से सूचित किया जाता है

I = (q )/(t )


2. चालक पदार्थ और विधुतरोधी पदार्थ किसे कहते है ?

उत्तर– चालक पदार्थ– जिस पदार्थ से विधुत धारा प्रवाहित होता है उसे चालक पदार्थ कहते है जैसे– चाँदी, तांबा, लोहा, इस्पात आदि

विधुतरोधी पदार्थ– जिस पदार्थ से विधुत धारा प्रवाहित नहीं होता है उसे विधुतरोधी पदार्थ कहते है जैसे–  कागज, काँच, चमड़ा, आदि


3. विधुत विभव किसे कहते है इसका SI मात्रक लिखे ?

उत्तर- विधुत विभव, विधुत क्षेत्र के अन्दर एकांक धन आवेश को अनंत से एक बिंदु तक लाने में किए गए कार्य को विधुत विभव कहते है I

विधुत विभव का SI मात्रक वोल्ट होता है वोल्ट को v से सूचित  किया जाता है

 


 4. विधुत विभवांतर किसे कहते है ?

उत्तर– प्रति एकांक धन आवेश को एक बिन्दु से दूसरे बिन्दु तक लाने में किए गए कार्य को विधुत विभवांतर कहते है

विधुत विभवांतर का SI मात्रक वोल्ट होता है वोल्ट को v से सूचित  किया जाता है


5. प्रतिरोध किसे कहते है ?

उत्तर– जो धारा के प्रवाह का विरोध करता है उसे प्रतिरोध कहते है प्रतिरोध को R से सूचित किया जाता है प्रतिरोध का SI मात्रक ओम (Ω) होता है सबसे कम प्रतिरोध चाँदी का होता है इसी लिए चाँदी विधुत का सर्वोतम चालक होता है

6. प्रत्यावर्ती धारा के लाभ और हानी को लिखिएँ ?

उत्तर– प्रत्यावर्ती धारा के लाभ और हानी निम्नलिखित है

प्रत्यावर्ती के लाभ —

1.ट्रांसफ़ॉर्मर की सहायता से इसके धारा के मान को बढ़ा या घटा सकते है

2.इसे दूर दूर तक भेजा जा सकता है

3.इसके विधुतवाहक बल को कम करके 6v से कम का भी उपकरण का प्रयोग किया जा सकता है

4.प्रत्यावर्ती धारा को चोक कुंडली द्वारा उर्जा हानि को नियंत्रित किया जा सकता है

प्रत्यावर्ती धारा के हानी–

1.प्रत्यावर्ती धारा से बैट्रियों को आवेशित नही किया जा सकता है

2.प्रत्यावर्ती धारा से विधुत लेपन नहीं किया जा सकता है

3.ये अत्यधिक हानिकारक होता है


7. चालक और अचालक पदार्थ क्या है ?

उत्तर– चालक पदार्थ– वैसे पदार्थ जिससे विधुत धारा आसानी से प्रवाहित होता है उसे चालक पदार्थ कहते है  जैसे—एल्युमिनियम, लोहा, चाँदी, ताम्बा आदि सभी धातुएँ विधुत के चालक होती है

अचालक पदार्थ— वैसे पदार्थ जिससे विधुत धारा प्रवाहित नही होता है उसे अचालक पदार्थ कहते है जैसे– लकड़ी, मिट्टी, चमड़ा, पलास्टिक आदि सभी अधातु विधुत के कुचलक होते है


8. ओम के नियम को लिखे ?

उत्तर– यदि किसी चालक के ताप में परिवर्तन न हो तो उसमे प्रवाहित विधुत धारा उसके सिरों के बिच आरोपित विभवान्तर के समानुपाती होता है I

I α  V

V = IR


9. किसी चालक का प्रतिरोध किन कारकों पर निर्भर करता है ?

उत्तर– किसी चालक का प्रतिरोध निम्नलिखित कारकों पर निर्भर करता है

1.चालक तार की लम्बाई पर– चालक तार की लम्बाई जितना ही अधिक होगा प्रतिरोध उतनाही अधिक होगा  Rα l.

2.चालक तार की मोटाई पर- चालक तार की मोटाई जीतन अधिक होगा प्रतिरोध उतनाही कम होगा  Rα1/A

3.चालक तार के ताप पर– ताप बढ़ने पर चालक तार का प्रतिरोध बढ़ता है

4.चालक तार के पदार्थ की प्रकृति पर– यदि चालक का पदार्थ जितानाही अच्छा होगा प्रतिरोध उतनाही कम होगा


 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page